12 नेटवर्क मार्केटिंग प्रश्न जो हर नेटवर्कर को सीखना चाहिए

प्रॉस्पेक्ट को नेटवर्क मार्केटिंग  की योजना दिखाने के बाद, यह बहुत कम होता है कि प्रॉस्पेक्ट खुद से या सीधे आपको पैसे दे दें। याद रखें, जो वास्तव में आपके इस काम में रुचि रखते हैं, वे निश्चित रूप से प्रश्न पूछेंगे। उनके सवालों से निराश न हों, उन्हें धैर्यपूर्वक और आत्मविश्वास से सुनें और जवाब दें। इन 12 नेटवर्क मार्केटिंग प्रश्नों को पढ़ें और जानें और अपनी सेल(Sale) करे।

शब्द चमत्कार करते हैं। सही समय पर सही शब्द चुनें।

बच्चों को बोलने के लिए 2 साल लग जाते हैं। लेकिन क्या नही बोलना है वह सीखने के लिए पूरी ज़िंदगी लग जाती है।

प्रॉस्पेक्ट के सवालो का सही से जबाव देना यह आपका अंतिम चरण है, सेल(Sale) को पाने का या खो देने का।

किसी भी सवाल का जवाब देने से पहले फील(Feel), फेल्ट(Felt), फाउंड(Found) कार्यनीति का उपयोग करें। यह कार्यनीति बिक्री के समापन का तकनीक है और एक आकर्षण की तरह काम करती है।

कंपनी भाग तो नहीं जाएगी?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस बिज़नेस को समझ रहा था तो मुझे भी ऐसा हे लगता था कि कंपनी भाग जाएगी! अब आप एक पेन और पेपर की मदद से उसे लिख कर समझाए! मान लेते है की एक सप्ताह में कंपनी 1000 सेल करती है और सारे पैकेज सुइट्स के बिकते है इस हिसाब से एक सप्ताह में कंपनी के पास 1000 X 15770 = 1.5 करोड़(Approx.) आये!
कंपनी इस पैसे को कैसे डिस्ट्रीब्यूट करती है अब उसे समझते है!
50% Payout – Distributors/Associates
40% Products – Suits/Shirts & Trousers/Hotels
10% Profit – Company
इस हिसाब से कंपनी को हर सप्ताह 75 Lacs के payouts रिलीज़ करने पड़ते है! और अगर कंपनी इन payouts को रिलीज़ नहीं करेगी तो अगले सप्ताह में कोई नया प्रोडक्ट नहीं सेल होगा! इस तरीके से कंपनी के पास एक सप्ताह में Maximum 1.5 करोड़ का फण्ड होगा और जिसके लिए कंपनी को प्रोडक्ट्स भी देने है! इसका मतलब ये हुआ की कंपनी को 1.5 करोड़ भी पूरा नहीं बच रहा! तो कंपनी कैसे भाग सकती है? कंपनी वो भागती है जिसमे 100-200 करोड़ के फंड्स Collect होते है! जिस कंपनी को 15 Lacs का Net Profit आता हो वो सिर्फ 1.5 करोड़ ले कर क्यों भागेगी? आज तक अपने जिन भी कम्पनियो के भागने की बाते आपने सुनी होंगी वो सारी कम्पनिया करोडो के फंड्स के साथ भागी होंगी!     
इसे एक और Example से समझते है! मान लेते है की कंपनी एक महीने तक Payouts रिलीज़ नहीं करती उसके बाद भी कंपनी के पास 6 करोड़ रूपए होंगे! लेकिन क्या कभी ऐसा हो सकता है कि अपने Payouts न आने पर कोई एक महीने तक wait करेगा? नहीं!
जब कंपनी को बिना टेंशन के 60 Lacs रूपए हर महीने आता है तो वो सिर्फ 6 करोड़ रूपए ले के क्यों भागेगी! ये सारा Answer एक Technical Answer है न कि एक emotional answer – जैसे कि मैं पांच साल से कर रहा हूँ अभी तक तो नहीं भागी तेरे ही पैसे लगाने का इंतज़ार कर रही है जैसे ही तू लगाएगा वैसे ही भाग जाएगी!

मैं तो ज्वाइन कर लूँगा अगर मेरे दो न हुए तो?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस बिज़नेस को समझ रहा था तो मुझे भी ऐसा ही लगता था! लेकिन आप जो सवाल पूछ रहे है उसका जवाब आपके सवाल में ही है! मतलब? मतलब ये सर की अपने बोला की मैं तो जुड़ जाऊंगा हैं न? सर आप पहले ये बताइये की आप क्यों जुड़ेंगे – क्योकि कोई नुक्सान नहीं है!
आपने 15770 रूपए दिए और 2 सुइट्स ले लिए जो की मार्किट कॉस्ट से कम में आपको मिल रहे है! मतलब आपके पैसे वसूल हो जायेंगे! अब आप जिसको भी लाएंगे जो की आपके A और B होंगे वो भी ये ही बोलेंगे की हम तो जुड़ जायेंगे लेकिन हमारे दो न जुड़े तो? और आपके A और B भी इसलिए जुड़ेंगे क्योकि कोई नुक्सान नहीं है!  अब जो आपके A है वो C और D को लगाएंगे और जो आपके B है वो E और F को लगाएंगे और ये लोग भी ये ही बोलेंगे की हम तो जुड़ जायेंगे लेकिन हमारे दो न जुड़े तो? अगर सारे ये ही कह रहे है कि हम तो जुड़ जायेंगे लेकिन हमारे दो न जुड़े तो…जब सब जुड़ हे रहे है तब तो कोई प्रॉब्लम ही नहीं है! आप 1000 लोगो को बताएँगे सब ये ही कहेंगे और जुड़ जायेंगे तो इसका मतलब सब जुड़ रहे है तब तो कोई परेशानी की बात ही नहीं!

यह मेरे लेवल(Level) का काम नहीं है?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मुझे भी ऐसा ही लगा था! फिर मेरे सीनियर ने मुझसे एक सवाल पूछा कि तेरा लेवल क्या है और लेवल(Level) कैसे DECIDE होता है? जहाँ तक तू लेवल की बात कर रहा है, तो मुझे लगता है कि तेरे घर के बाहर 2-3 MERCEDES खडी होंगी और 4-5 BMW का तू मालिक होगा! 20-25 लाख रूपए महीने की सैलरी होगी! मैंने बोला नहीं नहीं ऐसा थोड़ी न है! तो उन्होंने मुझसे पूछा और लेवल(Level) किसको बोलते है? लेवल(Level) बातो से नहीं Bank Balance से DECIDE होता है! आपकी बाते कितनी बड़ी है ये इम्पोर्टेन्ट बात नहीं है, आपका बैंक बैलेंस क्या बताता है ये ज्यादा इम्पोर्टेन्ट है! कोई भी बिज़नेस/प्रोजेक्ट इस दुनिया में छोटा या बड़ा नहीं होता, बिज़नेस करने का तरीका छोटा-बड़ा हो सकता है!
मुंबई में, Hair Cutting के लिए Reliance ने सैलून खोला है! मगर हमे सैलून खोलने के लिए बोला जाये तो हम शायद इसे छोटे लेवल का काम समझ कर न करे! क्या मैं गलत हूँ?
अमिताभ बच्चन को एक रूपए का oil बेचने में कोई प्रॉब्लम नहीं है! Film Stars ऐसी जगह शूटिंग करते है जंहा पानी भी नहीं होता और सिर्फ धुल-मिटटी होती है! लेकिन काम-काम होता है! काम का कोई लेवल नहीं होता!
मैं भी ऐसा ही सोचता था कि मेरे लेवल का काम नहीं है, पर मैंने अपने आप से एक सवाल पूछा, जो तेरे लेवल का है, जो तू कर रहा है, उसने तेरे को आज तक क्या दिया है?
क्या उसने तेरे बैंक अकाउंट में 50 लाख रूपए रखे है? क्या उसने तेरे Mom-Dad को World Tour करवाने का मौका दिया है? क्या तेरे लेवल ने तेरे बच्चो को डिनर, लंच बाहर करवाया है? क्या तेरे लेवल ने तेरे घर के आगे BMW, MERCEDES, JAGUAR गाडी खडी की है?
क्या तेरा लेवल तेरे बच्चो को सबसे बेस्ट स्कूल में पढ़ा सकता है? क्या तेरा लेवल तेरे बच्चो को सबसे महंगे कपडे दे सकता है? क्या तेरा लेवल तेरे को यह सब कुछ दे सकता है? ये सवाल तू  अपने आप से पूछ और अगर जवाब आये “नहीं” तो हाँ ये तेरे लेवल का ही काम है! जो मैं तुझे बता रहा हूँ! इससे तू वो सब कर सकता है, जो आज तक तूने कभी नहीं किया है!
जब मेरे सीनियर ने मुझे बताया तो मुझे समझ आया कि ये वो काम है जिससे लेवल बन जाता है!

मेरे पास तो लोग ही नहीं है?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मुझे भी ऐसा ही लगा था! फिर मेरे सीनियर ने मुझे कहा कि अगर मैं तुझे तेरे जानने वाले किसी एक का नाम लिखने के लिए तुझे 500 रूपए देता हूँ तो डायरी और पेन ले कर तू कितने नाम लिखेगा?
तो मैंने कहा कि 400 – 500 नाम लिख सकता हूँ!  
ये जो 500 लोग है इन लोगो के बच्चे है या नहीं? इन लोगो को पैसा चाहिए या नहीं? इन लोगो के सपने है या नहीं? इन लोगो के माता पिता है या नहीं? इनके माता पिता के लिए भी इनके कुछ सपने है या नहीं? क्या ये 500 लोग जिनका तुमने नाम लिखा क्या इन सब लोगो को अपना स्टैण्डर्ड ऑफ़ लिविंग(Statndard of Living) अच्छा करना है या नहीं? क्या इनको मौका नहीं चाहिए? इसका मतलब हमारे पास लोग तो है लेकिन ठीक तरीके से डायरी और पेन लेकर लिस्ट नहीं बनाते!
या फिर इसका उत्तर ऐसे भी दिया जा सकता है!
आपके पास 20 करोड़ रूपए है और आपको ये सारे पैसे अपनी बेटी या बहन की शादी में खर्च करने है अगर खर्च नहीं किये तो ये सारे पैसे वापस ले लिए जायेंगे! तो बताइये कितने लोगो को बुलाएँगे? सबको बुलाऊंगा किसी को नहीं छोडूंगा! तब कहा से आएंगे ये सारे लोग जनाब?
इसका मतलब हमारे पास लोग तो है लेकिन ठीक तरीके से डायरी और पेन लेकर लिस्ट नहीं बनाते! डायरी और पेन लेकर लिस्ट बनाइये लोग अपने आप आएंगे! अगर आप भीड़ में एक कंकड़ उच्छले और ये कंकड़ जिसको भी लगे बस उससे इतना पूछ लो कि उसको पैसे चाहिए तो वो न नहीं बोलेगा! तो इसका मतलब लोग है बस आप लिस्ट बना लीजिये!
Read how to make contact list in MLM?

इंटरनेट पर आपकी कंपनी की बहुत कम्प्लेंट्स है?

हमारी कंपनी की कम्प्लेंट्स? मैं तो इस कंपनी को बहुत अच्छा समझता था(थोड़ा सा कंफ्यूज होते हुए ये बोलना है)! ये बोलने से आप प्रॉस्पेक्ट के साथ हो जायेंगे!
सर अभी इंटरनेट पे चेक करते है कि कंपनी की कितनी कम्प्लेंट्स है! आपको इंटरनेट पर 18-20 कम्प्लेंट्स मिलेंगी! कम्प्लेंट्स देखते ही आपको ये कहना है कि…अपने मेरा सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है, आज के बाद मैं इस कंपनी के लिए और ज्यादा लगन से मेहनत करूँगा क्योकि जिस कम्पनी के 50000 से ज्यादा कस्टमर्स पिछले 6 से 12 महीनो में घूमकर आ चुके है उसमे से सिर्फ 20 लोग ही नेगेटिव है(वो भी सर्विस इंडस्ट्री में)!
ये तो गर्व की बात है कंप्लेंट की तो कोई बात ही नहीं! “It’s a matter of Proud” अब सर एक काम करते है इंटरनेट से कुछ और कम्प्लेंट्स निकालते है!
1. Taj Hotel Complaints, 2. Mercedes Benz Complaints, 3. Apple Complaints, 4. BMW Complaints
इन कम्प्लेंट्स को count करने में सर हो सकता है 4 से 5 घंटे लग जाये! क्योकि इतनी बड़ी कम्पनियाँ होने के बाद भी इनकी कम्प्लेंट्स का कोई पैमाना नहीं है! और एक तरफ हमारी कंपनी है जिससे 50000 लोग घूम के आ चुके है तो इस हिसाब से 15000 – 20000 कम्प्लेंट्स होती तो मैं आपके साथ था! अगर 50000 लोगो में से सिर्फ 20 लोग नेगेटिव है तो ये कंप्लेंट नहीं ये एक प्रोसेस है क्योकि अगर आप 1000 लोगो को Taj Hotel में भेजेंगे तो वापसी के समय 40 – 50 लोग तो Taj Hotel की भी कंप्लेंट करेंगे! तो सर ये कम्प्लेंट्स नहीं ये तो एक प्रोसेस है! नेगेटिव होने का तो मतलब ही नहीं साहब वैसे भी दुनिया में बहुत कम लोग संतुष्ट है!
अगर आपने ये जवाब कॉन्फिडेंस के साथ आँखों में आँखे डालकर दिया तो सामने वाला इंसान आपकी बातो से जरूर सहमत होगा

इस बिज़नेस को करने के लिए मेरे पास टाइम नहीं है?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मुझे भी ऐसा ही लगा था! फिर मेरे सीनियर ने मुझे बताया कि टाइम किसी के पास नहीं होता मैनेज करना पड़ता है! भगवान् ने सबको 24 घंटे ही दिए है!
इस बात को सर एक example से समझते है करीना कपूर खान 12 प्रोडक्ट्स को प्रोमोट(Endrose) करती है, एक साल में 3 फिल्म भी करती है! एक दिन में 16 – 18 घंटे काम और उसके बाद 1 घंटे का workout और 4 – 5 घंटे कि नींद!
कल आप शोरूम के उद्घाटन के लिए उसे 2 करोड़ रूपए देकर बुलाये तो उसके पास टाइम ही टाइम होगा या आप उसे अपने घर में किसी की शादी में डांस करने के लिए 10 करोड़ रूपए दे तो उसके पास टाइम ही टाइम होगा! इस तरह हम लोग बहुत पीछे है क्योकि वो 24 घंटो में सब कुछ कर रही है और हम उन्ही 24 घंटो में कुछ भी नहीं कर पा रहे है! तो इसका मतलब हम कोई टेक्निकल Mistake कर रहे है! क्योकि जो आप कारण बता रहे है, इसको न करने का मेरे हिसाब से वो ही एक बहुत बड़ा कारण है इस बिज़नेस को करने का! सर टाइम न होना “Is a failure or ahievement?” आपकी उम्र 35 साल है और आपके पास टाइम नहीं है तो बच्चो को घुमाने भी नहीं ले जाते होंगे? इसलिए ये बिज़नेस ज्यादा जरुरी है!    

मैं पहले चाचा जी से पूछ लू फिर इसे ज्वाइन करूँगा?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मुझे भी ऐसा ही लगा था कि मैं पहले पूछ लू! फिर मेरे सीनियर ने मुझे बताया वो मैं आपको बताता हूँ, आप मुझे एक बात बताइये आप किस से पूछेंगे? अपने चाचा जी से, मामा जी से, Very Good क्या करते है आपके चाचा जी… वो तो बहुत बड़े आदमी है! इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में, क्या पूछेंगे कि एक कंपनी है, जिसका नाम Naswiz Retails है, 15770 लगाने है, 2 Suits मिलेंगे, 2 बनाने है और कुछ टाइम के बाद 5.4 लाख कमाने है! Ok, ये सब सुनने के बाद क्या बोलेंगे आपके चाचा जी? वो तो मुझे करने ही नहीं देंगे!
अब मान लेते है कि आपने चाचा जी से पूछा और उन्होंने कह दिया कि कर ले, अब अगर वो करने को कह रहे है वो भी तो गलत है यार क्योकि उनको तो पता ही कुछ नहीं है! और अगर नहीं करने को कह रहे है तो भी गलत है, क्योकि उनको तो कुछ पता ही नहीं है!
मेरे हिसाब से तो बिज़नेस आपको समझ में आना चाहिए, अगर आपको अच्छा लग रहा है तो किसी से पूछने की जरुरत नहीं है! और अगर आपको अच्छा नहीं लग रहा तब भी किसी से पूछने की जरुरत नहीं है क्योकि अगर आपको अच्छा ही नहीं लगा तो चाचा जी से पूछ के क्या करोगे? और अगर आपको अच्छा लग रहा है, तो फिर किसी से पूछना ही क्यों? 100 – 200 करोड़ इन्वेस्ट करने है क्या? अगर नहीं तो Start करते फिर क्योकि पूछ के तो कभी Start नहीं हो पायेगा!

मैं पहले अपने 2 ज्वाइन करवा लू फिर मैं खुद ज्वाइन कर लूंगा?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मैं भी ये ही सोच रहा था कि पहले मैं दो जोड़ लूँ फिर मैं ज्वाइन करूँगा, फिर मेरे सीनियर ने मुझे बताया वो मैं आपको बताता हूँ, मान लीजिये आप 2 लोगो के पास गए अजय और विजय और उन्होंने आपसे पूछा कि आप जुड़ गए है क्या? तो आप सच बोलेंगे या झूठ?

मान लीजिये आप सच बोलते है मैं तो नहीं जुड़ा तो फिर वो बोलेगा अच्छा…Experiment करने आया है और हो सकता है ये न भी बोले, तो बोलेंगे कि ये बढ़िया तरीका है, तो अजय और विजय भी ये ही काम करते है कि वो पहले अपने दो ढूंढ ले फिर वो भी जुड़ जायेंगे! अब ये दो लोग फिर निकल गए अपने 2 – 2 ढूंढने के लिए! फिर उन 4 लोगो ने उन दो लोगो से पूछा तुम भी जुड़ गए? तो उन 2 लोगो ने कहा की नहीं अभी तो हम ढूंढा ढांढ़ी कर रहे है क्योकि हमारे सीनियर भी अभी ढूंढा ढांढ़ी में लगे हुए है! फिर वो बोलेगे कि ये तो बहुत बढ़िया काम है हम भी तेरे साथ है हम भी पहले अपने 2 ढूंढ लेते है! अब ये लोग अपने 2 – 2 लोग ढूंढ रहे है! ये बिज़नेस बहुत बढ़िया है, लगाना भी कुछ नहीं, लोगो को ढूंढने का काम है, सबने अपने लोग ढूंढ लिए टीम भी हज़ारो लोगो कि हो गयी, पैसा भी बहुत आ गया, गाड़िया भी आ गयी…लेकिन सब “हवा” में

इसका दूसरा उत्तर हो सकता है कि आप जुड़े नहीं हो और अपने बोल दिया कि मैं जुड़ गया! भाई साहब जिस चीज़ कि शुरुआत झूठ से हो वो काम कभी चलता नहीं! और सर दुकान खोलने से पहले ग्राहक नहीं ढूंढे जाते, पहले दुकान खोलनी होती है, माल भरना पड़ता है, इन्वेस्टमेंट करनी पड़ती है तभी ग्राहक आते है! कभी अपने ऐसा देखा है कि मार्किट में आदमी आपको पकड़ के पूछ रहा हो जूते खरीदेगा, दुकान खोल लू क्या? ऐसा कभी नहीं होता कोई काम शुरू करने से पहले वो काम खुद करना पड़ता है!

कंपनी का टर्नओवर कितना है? बैलेंसशीट क्या है? टैक्स कितना और कहा फाइल किया?

15770 रूपए की इन्वेस्टमेंट है और क्या मांग रहा है आपसे? कंपनी का Profit & Loss.
सर अपने अपने बच्चे का जिस स्कूल में एडमिशन करवाया, उस स्कूल से ये लिस्ट माँगा कि बताओ कितने IAS, IPS निकले है इस स्कूल से, मेरी request है कल पहले जा कर ये काम करिये, फिर हमारा टर्नओवर पूछिए, हम बताएंगे, जंहा पर आप हर महीने 8000 रूपए फीस देते है फीस important नहीं है?

आपके बच्चे के 12 साल दिए, आप उसके स्कूल में जाइये, उनसे पूछिए कि अपना Profit & Loss दिखाइए कि कितना कमाया है? कोई भी नहीं पूछता न पूछ सकता है और न ही पूछना चाहिए क्योकि विश्वास होता है सर, अपने LG का वाशिंग मशीन खरीदा, बैलेंसशीट देखी उनकी, अपने LED लिया क्या तब बैलेंसशीट मांगी, आपने आज तक किसकी बैलेंसशीट मांगी पैसा लगाने से पहले? तो फिर अब बैलेंसशीट क्यों मांग रहे हो?
आप एक काम करिये कंपनी का हेड ऑफिस पीतम पुरा में है आप मेरे साथ चलिए, मैं आपको दिखता हूँ पर एक बात का Commitement करो कि सब कुछ देखने के बाद Tripod से जुड़ेंगे? एक बात बताऊ सर, बैलेंसशीट गलत बनाई जा सकती है क्या मैं ठीक हूँ? बहुत सी चीज़े छुपाने कि होती है, इनकम टैक्स बचाने के लिए और ये legal है illegal नहीं है! अगर आप बिज़नेस अपने और अपनी बीवी के नाम से कर रहे है तो ये लीगल है न साहब! ये इनकम टैक्स बचाने का एक तरीका है, अगर मुझसे कोई बैलेंसशीट मांगे तो मैं भी नहीं दिखाऊंगा क्योकि कोई भी नहीं दिखायेगा! क्या आप अपना बैंक अकाउंट किसी को भी दिखते है क्या?    

नेटवर्क मार्केटिंग का मार्किट बहुत ख़राब है, इस काम में नेगेटिविटी बहुत है, ये काम नहीं करना चाहिए?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मैं भी ऐसा ही सोचता था ये बहुत नेगेटिव है, नेगेटिव का ये मतलब है कि इसमें Failure बहुत होते है, जुड़ते है, पैसे नहीं कमाते, फ़ैल हो जाते है! आप मुझे इस दुनिया में कोई एक काम बताइये जिसमे लोग फ़ैल नहीं होते! मैं आपको ये बता दूँ, जिस बिज़नेस में लाइफ चेंज करने के chance सबसे ज्यादा होंगे, उस बिज़नेस कि नेगेटिविटी भी सबसे ज्यादा होगी!
Example: इंडियन टुडे सर्वे के हिसाब से मुंबई BT स्टेशन पर औसतन 2500 – 3000 लोग रोज जिनमे 16 -17 साल के लड़के लड़किया उतरते है बॉलीवुड में अपना करियर बनाने के लिए वो आमिर खान, सलमान खान, करीना कपूर कि तरह अपना नाम बनाना चाहते है, ये बच्चे अपने घरो से पैसे ले कर अपना करियर बनाने जाते है!

3000 लोग एक दिन, मतलब 1 लाख एक महीने में और 12 लाख एक साल में, अगर आप इसको 20 से multiply करे तो औसतन 2.5 करोड़, अब आप सोच के मुझे ऐसे 40 सुपरस्टार्स के नाम बताइये जो अपनी पहचान बना पाए! 2.5 करोड़ में से 20 actors और 20 actoress के नाम बताइए, आपको 10 Actors और 10 actoress के नाम के लिए भी सोचना पड़ेगा, वो जो 2.5 करोड़ गए थे, सब वापस आ गए, नौकरी लगवा दो पापा, आप ठीक कह रहे थे क्योकि जब धक्के खाने पड़ते है, जूझना पड़ता है, struggle करना पड़ता है, कुछ पाने के लिए थप्पड़ लगते है हर जगह से, हर जगह से लोग मना करते है, rejections झेलना पड़ता है, Frustration होती है तो 99% लोग घर आ वापस आ जाते है और जो डटे रहते है वो “अक्षय कुमार” बन जाते है!
इससे ज्यादा नेगेटिविटी कहा हो सकती है? जंहा 2.5 करोड़ लोग गए हो और 25 – 50 लोगो से ज्यादा success न हुए हो!
लेकिन जो successful हुए हो वो Ultra Modern लाइफ जीते है साहब! कौन सा काम इस दुनिया में ऐसा है जिसमे नेगेटिविटी नहीं है?
आप मुझे गलत मत समझिये! डॉक्टर के प्रोफेशन में सर्विस कम और corruption ज्यादा है! लोग डॉक्टर के पास जाते है तो घबराते है, कि अच्छी advice  मिलेगी या नहीं! वो देखते ही बोलेगा, लिटाओ और आपको बोलेगा कि बस 15 मिनिट है signature करो नहीं तो गया, मरता क्या न करता Stud डालना पड़ेगा, 3 लाख लगेंगे अब बताइये क्या करेगा आदमी? कौन सा बिज़नेस अच्छा है साहब? जंहा नेगेटिविटी नहीं है साहब, इस बिज़नेस में आप किसी को चीट नहीं कर रहे है सर, आपने 15770 दिए और 2 Suits ले लिए आपका पैसा वसूल हो गया! इस बिज़नेस में नेगेटिविटी क्यों है मैं बताता हूँ!
इस बिज़नेस में कम इन्वेस्टमेंट है जो बिज़नेस कि सबसे बड़ी नेगेटिविटी है! आप बिज़नेस ज्वाइन करते है, 5 – 10 लोगो से बात करते है, वो आपको मना करते है और आप छोड़ देते है और 3 महीनो के बाद किसी से मिलते है तो उसे बोलते है कि हमने करके छोड़ दिया है ये सब! इस तरह नेगेटिविटी फैलनी शुरू होती है 15770 रूपए कि जगह अगर अपने 80 – 90 लाख लगाया होता और 20 लोग मना कर देते तो आप क्या करते सर? आप अगले 20 को मिलते और वो भी मना करते तो अगले 20 को मिलते, क्योकि 80 लाख रूपए आप यूँही नहीं छोड़ देते! इस बिज़नेस कि कम इन्वेस्टमेंट ही इसकी सबसे बड़ी नेगेटिविटी का कारण है! और अगर कोई और नेगेटिविटी है तो वो लोगो कि नासमझी की वजह से है या फिर rumours है!

मेरे पास पैसे नहीं है?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! ये बिलकुल Possible है कि आपके पास पैसे न हो! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था उस समय मेरे पास भी पैसे नहीं थे और प्रोजेक्ट देखने के बाद मैंने भी ये ही बोला कि मेरे पास पैसे नहीं है तब मेरे सीनियर ने मुझसे एक बात पूछी कि जॉब करते हुए कितना टाइम हो गया है?

मैंने बोला 5 साल फिर उन्होंने मुझे कहा कि 5 साल जॉब करने के बाद भी अगर पैसे नहीं है तो हम अपनी ज़िंदगी में कर क्या रहे है? ये हमे सोचने कि जरुरत है, उन्होंने बोला कि अगर आज किसी इमरजेंसी कि वजह से Urgently 50 हज़ार रूपए का Arragement करना पड़े तो क्या करोगे? उनकी इस बात ने मुझे सोचने पे मजबूर कर दिया कि मैं अपनी ज़िंदगी में वाकय में क्या कर रहा हूँ! और उन्होंने बोला कि भाई ये काम उन लोगो को ही करने कि जरुरत है जिनके पास पैसे नहीं है उसको करने कि कोई जरुरत नहीं जिसके बैंक में 10 लाख रूपए पहले से ही जमा है! फिर मैंने उसी दिन पैसे Arrange किये और काम शुरू कर दिया! अब आप खुद बताइये कि बिना कुछ किये बिना पैसे कैसे आएंगे?

एक ऐसा दिन आएगा जिस दिन सब जुड़ जायेंगे और किसी को पैसा नहीं आएगा?

आप बिलकुल ठीक कह रहे है! जब मैं पहली बार इस प्रोजेक्ट को देख रहा था तब मैंने भी यही सोचा था कि एक दिन सब जुड़ जायेंगे और पैसे आने बंद हो जायेंगे!
Emotional Answer – आप तभी अपने मन में सोच लो कि जब तक ऐसा Question पूछने वाले लोग है तब तो सब जुड़ेंगे नहीं! फिर भी अब जवाब तो देना ही है!
आपको पता है कि हमारा देश आबादी के मामले बहुत आगे है और जब तक हम 125 करोड़ लोगो को निपटाएंगे तब तक इतने ही और लाइन में होंगे! हमारे Product बेचने कि Speed से बहुत ज्यादा तेज़ speed है बच्चो के पैदा होने की! हम लोग कितनी भी कोशिश कर ले हमारे देश में बच्चे पैदा होने की Speed को पीछे नहीं छोड़ पाएंगे!
Technical Answer – सर आपको तो पता है की हमारे देश की आबादी कितनी है और आपको ये भी पता होना चाहिए की डायरेक्ट सेल्लिंग इंडस्ट्री के साथ पूरी आबादी का सिर्फ 4%-5% हिस्सा जुड़ा हुआ है और जब तक ये 100% तक पहुंचेगा तब तक हो सकता है की हम लोग अपनी जॉब्स या बिज़नेस से रिटायर हो चुके होंगे! इस हिसाब से हमे ये काम कर लेना चाहिए क्योकि रिटायरमेंट तक ये काम चलने वाला है और उसके बाद की भी दिक्कत नहीं क्योकि आबादी 125 करोड़ पे तो रुकेगी नहीं!

श्री सोनू शर्मा के इन सार्वभौमिक(universal ) सवालों को याद रखें, जो अक्सर फॉलोअप के दौरान प्रॉस्पेक्ट द्वारा पूछे जाते हैं।

Advertisements

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *